जाग मेरी बहना – जाग मेरे भइया

जाग मेरी बहना – जाग मेरे भइया शारदा से कटने न पाये मडइया जाग मेरी बहना – जाग मेरे भइया ……….| बीते जमाने में अपना भी राज था | गांवो में खुशिया थी खेतों में नाज था | घर के बयालों में गाये चिरैया शारदा से कटने न पाये मडइया जाग मेरी बहना – जागContinue reading “जाग मेरी बहना – जाग मेरे भइया”

Advertisement

जिन्‍दगी का सवाल

  2008 में 6 बीघा जमीन कट गयी और अब फिर घर के किनारे नदी आ गयी है। अगर कटान हुआ तो असईपुर में मेरा सबसे पहला घर होगा जो कटेगा। कटान रोको संघर्ष मोर्चा की लगातार कोशिशों से पिछले साल बारिश के समय प्रशासन ने सीमेन्‍ट की बोरियां लगायी। थोडा काम हुआ लेकिन हमContinue reading “जिन्‍दगी का सवाल”